Beti Bachao Beti Padhao Scheme | बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना

Beti Bachao Beti Padhao Scheme
 
 
बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना (Beti Bachao Beti Padhao Scheme) को महिला एंव बात विकाश मंत्रालय, स्वास्थ्य मंत्रालय , परिवार कल्याण मंत्रालय और मानव संसाधन विकाश मंत्रालय ने संयुक्त रुप से मिलकर इस योजना को 22 जनवरी 2015 को स्थापना हुई |  ईन प्रयासो के अंतगर्त बालिकओ को संरक्षण ओर सशक्त करने के लिए बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना की शुरुआत हुई भारत की जनसख्या तेजी से बढ रही हैं पर सबसे दुर्भाग्य की बात है कि बढ्ती जनसंख्या के बाबजूद लड्कियो का अनुपात घट्ता जा रहा है । भारत के 2001 के अनुसार 1000 लड्को पर 927 लडकियो थी और यह आकडा 2011तक सिर्फ 1000 लड्को में 918 लड्किया है । जिस प्रकार लडलियो की संख्या हर वर्ष तेजी से घट रही है ।इससे ऐसा लगता है कि 1 दिन देश में लड्कियो की संख्या ना के बराबर हो जाएगी इसलिए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने बेटी बचाओ बेटी पढाओ की स्कीम की शुरुआत की बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना की शुरुआत हुई जिसमे वर्तमान वित्त मत्री अरुण जेट्ली ने 100 करोड की लगत से इसकी शुरुआत unicef ने भारत को बाल लिंग अनुपात 125 देशो में से 41वा स्थान दिया यानि हम लिंग अनुपात में 40 देशो से पिछे है इस योजना का उदेश्य वालिकाओ का अस्तित्व ओर सुरक्षा सुनिश्चित करना है |
BETI BACHAO BETI PADHAO YOJANA (BBBP)KYA HAI यह इसके नाम से ही स्पष्ट है। इस योजना का उद्देश्य महिलाओं के कल्याण के लिए सेवाओं की दक्षता में सुधार करना एवं महिलाओं को उनके अधिकारों प्रति जागरूकता बढ़ाना है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मुताबिक, “हमारा मंत्र होना चाहिए: बेटा और बेटी एक समान हैं

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना क्या है (BBBP)?

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का उद्देश्य देश में महिलाओं की स्थिति में सुधार लाना है और इसके लिए बालिका लिंग अनुपात में गिरावट रोकना एवं महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देना है।
 
यह निम्नलिखित तीन मंत्रालयों का संयुक्त प्रयास है:
  • महिला एवं बाल विकास
  • स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण
  • मानव संसाधन विकास
2001 की जनगणना के अनुसार भारत में 0-6 आयु वर्ग के बच्चों का लिंगानुपात प्रति 1000 लड़कों के तुलना में 927 लड़कियां थी जो घटकर 2011 में 1000 लड़कों के तुलना में 918 लड़कियां रह गई। यूनिसेफ के आंकड़ों के अनुसार इस संदर्भ में भारत 2012 में 195 देशों में 41वें स्थान पर था।
 

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के यह लक्ष्य (Beti Bachao Beti Padhao Objectives) कुछ इस प्रकार से हैं:

  1. न्या भ्रूण हत्या का रोकथाम (Prevention of gender-biased sex-selective elimination)
  2. कन्याओं की सुरक्षा व समृद्धि (Ensuring survival & protection of the girl child)
  3. बालिकाओं की शिक्षा और भागीदारी सुनिश्चित करना (Ensuring education & participation of the girl child)
  4.  इस योजना का मुख्य उदेश्य शिक्षा के माध्य्म से लड्कियो को समाजिक ओर वित्तीय रुप से स्वतत्रा बनाना ।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ स्कीम फॉर्म (Beti Bachao Beti Padhao Scheme Application Form)

इस योजना से आर्थिक लाभ लेने व इस योजना के तहत अप्लाई करने के लिए बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना आवेदन फॉर्म (Beti Bachao Beti Padhao Application Form) तलाश रहे हैं तो हम आपको बता दें की बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के लिए कोई आवेदन नहीं होता व यह योजना केवल समाज को जागरूक करने के लिए है।

फॉर्म यहाँ से डाउनलोड कर सकते हैं। (Download form from here )

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ स्कीम के लिए डाक्यूमेंट्स (BBBP Documents)

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के लिए कोई एप्लीकेशन नहीं हो सकता वैसे ही इसके लिए कोई डाक्यूमेंट्स की आवश्यकता नहीं होती। आप ऐसे लोगों से सावधान रहें जो आपसे BBBP Scheme से पैसे दिलाने के बदले आपके डॉक्यूमेंट व पैसे मांगते हों।
यदि आप सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता खुलवाते हैं तो आपको कुछ कागजात की जरूरत होती है। यह कागजात कुछ इस प्रकार से हैं:
  • SSY खाता खुलवाने का फॉर्म
  • आवेदनकर्ता (बालिका) का जन्म प्रमाण पत्र
  • माता-पिता/अभिभावक का एड्रेस प्रूफ
  • गार्डियन/माता-पिता का पहचान पत्र
उम्मीद है आपको बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। यदि आपको इसके अलावा कोई और जानकारी चाहिए तो हमें कमैंट्स में बताएं।

Leave a Comment

उत्तर प्रदेश विवाह अनुदान योजना Jharkhand Ration :ऑनलाइन आवेदन (aahar.jharkhand.gov.in) एप्लीकेशन फॉर्म