msy.uk.gov.in | मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना उत्तराखंड आवेदन

Uttarakhand Mukhyamantri Swarojgar Yojana in Hindi | उत्तराखंड मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना पंजीकरण | UK CM Rojgar Yojana Registration | Uttarakhand Rojgar Yojana Registration | Uttarakhand Swarojgar Yojana Registration | Apply Online Rojgar Yojana Uttarakhand | Uttarakhand CM Swarojgar Yojana Panjikaran 
 
 
मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना उत्तराखंड आवेदन

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना उत्तराखंड आवेदन | MSY UK gov in

इस योजना का मकसद राज्य के युवाओं को रोजगार अवसर प्रदान करना है | जो कुशल और अकुशल कारीगरों, हस्तशिल्पियों और शिक्षित शहरी और ग्रामीण बेरोजगार व्यक्ति है जो कोविड-19 के कारण उत्तराखंड वापस लौट हैं उनको अपना व्यवसाय स्थापित करने के लिए उत्तराखंड सरकार मदद कर रही है |
इस योजना के तहत ,जितने युवा जो उत्तरखंड के निवासी है और वे अपना स्वरोजगार करना चाहते हैं उनको राष्ट्रीयकृत / अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों, राज्य सहकारी बैंकों / क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों के माध्यम से खुद का उद्यम, सेवा या व्यवसाय शुरू करने हेतु ऋण सुविधा प्रदान किया जायेगा।
इस योजना को लागु करने के लिए ,उत्तराखंड सरकार के एमएसएमई विभाग के तहत उद्योग निदेशालय नोडल एजेंसी होगी।जो जिला स्तर पर, जिला उद्योग केंद्र योजना को लागू करेगा।

 

उत्तराखंड मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना का संक्षिप्त विवरण

 

उत्तराखंड मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना का संक्षिप्त विवरण
राज्य का नामउत्तराखंड
लाभार्थीवे सभी लोग जो अपना खुद का व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं।
योजना लाभस्वरोजगार हेतु ऋण
लॉन्च किया गयाइससे पहले 2015 में लॉन्च की तारीख और 28 मई को पुन:
कितना ऋण दिया जायेगाकुल श्रेणी के लिए कुल परियोजना लागत का 90% और विशेष श्रेणी के लिए कुल परियोजना लागत का 95%
अधिकतम परियोजना लागतविनिर्माण क्षेत्र के लिए 25 लाख रुपये और सेवा क्षेत्र के लिए 10 लाख रुपये
ऋण प्रदान करने के लिए बैंकराष्ट्रीयकृत बैंक, अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक, सहकारी बैंक आदि।
आवेदन / पंजीकरण प्रक्रियाऑनलाइन के साथ-साथ ऑफ़लाइन
ऑनलाइन फॉर्म अप्लाई करेंhttps://msy.uk.gov.in/frontend/web/index.php
योजना का विवरणपीडीएफ डाउनलोड करें

 

उत्तराखंड स्वरोजगार योजना का उद्देश्य

 

उत्तराखंड स्वरोजगार योजनान्तर्गत ऐसे उद्यमशील युवा उद्यमी, जो राज्य के मूल अथवा स्थायी निवासियों और जो स्वरोजगार करना चाहते हैं, को स्वरोजगार के लिए प्रेरित करने एवं स्वयं के उद्यम, सेवा एवं व्यवसाय को प्रारम्भ करने हेतु राष्ट्रीयकृत बैंकों / अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों / सहकारी बैंकों के माध्यम से ऋण सुविधा उपलब्ध कराना है, ताकि उद्यमशील व्यक्ति / युवा अपना स्वयं का रोजगार प्रारम्भ कर सके। योजना के मुख्य उद्देश्य निम्नलिखित हैं:

 

  • स्वरोजगार हेतु नये सेवा, व्यवसाय तथा सूक्ष्म उद्योगों की स्थापना कर ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में रोजगार के अवसरों का सृजन।
  • युवा उद्यमियों, उत्तराखण्ड के ऐसे प्रवासियों, जो कोविड-19 के कारण उत्तराखण्ड राज्य में वापस आये हैं, कुशल व अकुशल दस्तकारों / हस्तशिल्पियों तथा शिक्षित शहरी व ग्रामीण बेरोजगारों को यथासम्भव उनके आवासीय स्थल के पास रोजगार के अवसर सुलभ कराना।
  • पर्वतीय व ग्रामीण क्षेत्रों से नौकरी की खोज में होने वाले पलायन को रोकना |

उत्तराखंड स्वरोजगार योजना  ऋण एवं अनुदान

 

योजनान्तर्गत राष्ट्रीयकृत बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों, राज्य सहकारी बैंकों व अन्य शिड्यूल्ड बैंकों के माध्यम से सभी पात्र विनिर्माणक, सेवा व व्यवसायिक गतिविधियों की स्थापना के लिए वित्त पोषण किया जायेगा तथा उक्त के सापेक्ष सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग द्वारा योजनान्तर्गत मार्जिन मनी की धनराशि अनुदान के रूप में उपलब्ध करायी जायेगी। विनिर्माणक क्षेत्र के उद्यम के लिए परियोजना की अधिकतम लागत रु. 25 लाख तथा सेवा व व्यवसाय क्षेत्र के लिए अधिकतम लागत रु. 10 लाख होगी।

 

  • योजनान्तर्गत एम०एस०एम०ई० नीति-2015 (यथासंशोधित, 2016, 2018 व 2019) में वर्गीकृत श्रेणी ए में मार्जिन मनी की अधिकतम सीमा व मात्रा कुल परियोजना लागत का 25 प्रतिशत (विनिर्माणक गतिविधि के लिए अधिकतम रु. 6.25 लाख तथा सेवा व व्यावसायिक गतिविधि के लिए रु. 2.50 लाख), श्रेणी बी व बी+ में कुल परियोजना लागत का 20 प्रतिशत (विनिर्माणक गतिविधि के लिए अधिकतम रु. 5 लाख तथा सेवा व व्यावसायिक गतिविधि के लिए रु. 2 लाख) तथा श्रेणी सी व डी में कुल परियोजना लागत का 15 प्रतिशत (विनिर्माणक गतिविधि के लिए अधिकतम रु. 3.75 लाख तथा सेवा व व्यवसायिक गतिविधि के लिए रु. 1.50 लाख), उक्त में से जो भी कम हो, मार्जिन मनी के रूप में देय होगी।
  • उद्यम के 2 वर्ष तक सफल संचालन के उपरान्त मार्जिन मनी अनुदान के रूप में समायोजित की जायेगी।
  • सामान्य श्रेणी के लाभार्थियों द्वारा परियोजना लागत का 10 प्रतिशत स्वयं के अंशदान के रूप में बैंक में जमा करना होगा। विशेष श्रेणी (अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक, भूतपूर्व सैनिक, महिला एवं दिव्यांगजन) के लाभार्थियों को कुल परियोजना लागत का 5 प्रतिशत स्वयं के अंशदान के रूप में जमा करना होगा।
  • कुल परियोजना लागत में पूंजी व्यय (भूमि क्रय की लागत को छोड़कर) और कार्यशील पूंजी का एक चक्र शामिल होगा। परियोजना लागत में किराये पर वर्कशॉप/वर्कशेड लिए जाने को सम्मिलित किया जा सकता है, परन्तु भूमि क्रय की लागत को परियोजना लागत में सम्मिलित नहीं किया जायेगा।

उत्तराखंड स्वरोजगार योजना पात्रता

  1. आवेदक की आयु आवेदन के समय कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए।
  2. शैक्षिक योग्यता की बाध्यता नहीं है।
  3. योजनान्तर्गत उद्योग सेवा एवं व्यवसाय क्षेत्र में वित्त पोषण सुविधा उपलब्ध होगी।
  4. आवेदक या इकाई किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक/वित्तीय संस्था / सहकारी बैंक या संस्था इत्यादि का चूककर्ता (defaulter) नहीं होना चाहिए।
  5. आवेदक द्वारा विगत 5 वर्ष के भीतर भारत सरकार अथवा राज्य सरकार द्वारा संचालित किसी अन्य स्वरोजगार योजना का पूर्व में लाभ प्राप्त नहीं किया गया हो, किन्तु यदि किसी आवेदक द्वारा 5 वर्ष पूर्व भारत सरकार या राज्य सरकार की किसी अन्य स्वरोजगार योजना में लाभ प्राप्त किया गया और वह चूककर्ता (defaulter) नहीं है, तो वह अपने उद्यम के विस्तार के लिए योजनान्तर्गत वित्त पोषण प्राप्त कर सकता है।
  6. आवेदक अथवा उसके परिवार के किसी एक सदस्य को योजनान्तर्गत केवल एक बार ही लाभान्वित किया जायेगा।
  7. आवेदक द्वारा पात्रता की शर्तों को पूर्ण किये जाने के सम्बन्ध में शपथ पत्र प्रस्तुत किया जाना होगा।
  8. विशेष श्रेणी (अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक, भूतपूर्व सैनिक, महिला एवं दिव्यांगजन) के लाभार्थियों के लाभ हेतु सक्षम प्राधिकारी विशेष श्रेणी द्वारा निर्गत प्रमाण पत्रों की प्रमाणित प्रति आवेदन पत्र के साथ संलग्न करना अनिवार्य होगा।
  9. लाभार्थियों का चयन अधिक आवेदन प्राप्त होने पर प्रोजेक्ट व्यवहार्यता देखते हुए “पहले आयें पहले पायें” (First Come First Serve) के आधार पर किया जायेगा।
  10. उत्तराखंड मुख्मंत्री स्वरोजगार योजना के लिए आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज
  • (i) मूल निवासी प्रमाण पत्र
  • (ii) पासपोर्ट साइज फोटो
  • (iii) विस्तृत परियोजना रिपोर्ट
  • (iv) आधार कार्ड कॉपी
  • (v) शपथ पत्र (निर्धारित प्रारूप के अनुसार)
  • (vi) शिक्षा का प्रमाण पत्र
  • (vii) बैंक डिटेल कॉपी
  • (viii) जाति प्रमाण पत्र (यदि लागू हो)
  • (iX) दिव्यांग प्रमाणपत्र (यदि लागू हो)
  • (X) राशन कार्ड कॉपी

उत्तराखंड मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना ऑनलाइन आवेदन करें

 

  • सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट msy.uk.gov.in पर जाएं।

 

 

मुख्यमंत्री सोलर स्वरोजगार योजना उत्तराखंड

 

  • होमपेज पर, मुख्य मेनू में मौजूद “ऑनलाइन एप्लिकेशन / Online Application” अनुभाग के तहत “पंजीकरण / Registration” लिंक पर क्लिक करें।

 

 

 
मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना उत्तराखंड Online

 

 

  • इसके बाद आपको आपने कंप्यूटर या मोबाइल स्क्रीन पर तदनुसार, उत्तराखंड मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म दिखाई देगा।
  • नाम, ई-मेल आईडी, पासवर्ड, पैन कार्ड नंबर, आधार कार्ड नंबर, पता, जिला, शहर, पिन कोड और मोबाइल नंबर का उपयोग करके एक खाता बनाएं।
  • फिर आवेदक यूके सीएम स्वरोजगार योजना ऑनलाइन आवेदन पत्र भरने के लिए वेबसाइट पर पुनः लॉगिन कर सकते हैं।
  • आवेदकों को लॉगिन करने के लिए ई-मेल आईडी और पासवर्ड दर्ज कर सकते हैं।
स्वरोजगार योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन Uttarakhand

 

  • इस कार्यक्रम के तहत आवेदन करने वाले प्रवासियों को संबंधित अधिकारियों से त्वरित मंजूरी मिल जाएगी और उनके आवेदन तत्काल सब्सिडी वाले बैंकों को भेज दिए जाएंगे।

 

इस प्रकार आप भी उत्तराखंड मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत अपना ऑनलाइन पंजीकरण करवा सकते हैं। पंजीकरण के बाद पुष्टि हेतु आपके मोबाइल पर एक मेसेज जायेगा तथा विभाग द्वारा आपको एक ईमेल भी भेजा जायेगा।

 

 

 

 

Leave a Comment